14 साल बाद तमिलनाडु फिर चैंपियन, कप्तान कार्तिक बोले- राज्य के क्रिकेट को और आगे ले जाना चाहता हूं

313
  • बड़ौदा को सात विकेट से हराकर जीती सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी
    04 विकेट झटके सिद्धार्थ ने, अपराजिता ने खेली 29 रन की नाबाद पारी
    02 बार तमिलनाडु ने खिताब जीता

  • सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी 2021 के फाइनल में तमिलनाडु ने बड़ौदा को लो स्कोरिंग मुकाबले में 12 गेंद शेष रहते 7 विकेट से हरा दिया। यह मैच रविवार 31 जनवरी को मोटेरा स्टेडियम में खेला गया। बायें हाथ के स्पिनर एम सिद्धार्थ (4/20) ने उम्दा गेंदबाजी की। इसके बाद हरि निशांत (35) और बाबा अपराजित (29) की पारियों से तमिलनाडु ने दूसरी बार सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी को जीता। तमिलनाडु का यह लगातार दूसरा और कुल तीसरा फाइनल था। पिछले साल उसे कर्नाटक से शिकस्त मिली थी। वहीं 2006-07 का शुरुआती टूर्नामेंट तमिलनाडु ने जीता था। तमिलनाडु ने जीत के लिए मिले 121 रन के लक्ष्य को 18 ओवर में तीन विकेट पर 123 रन बनाकर हासिल कर लिया। जीत के बाद तमिलनाडु के कप्तान दिनेश कार्तिक ने कहा, ‘तमिलनाडु की टीम से निकलकर कई खिलाड़ी आज अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अच्छा कर रहे हैं। हम राज्य की क्रिकेट को आगे लेकर जाना चाहते हैं।’ दिनेश कार्तिक की अगुवाई में यह टीम 2019-20 के सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी के फाइनल में पहुंची थी। तब उसे कर्नाटक के हाथों हार का सामना करना पड़ा था, लेकिन इस बार उसने पिछली गलतियों से सीखा और ट्रॉफी अपने नाम की।
  • कप्तान कार्तिक ने कहा, “पिछले साल हमें निराशा हाथ लगी थी। लेकिन इस बार हमने अच्छी क्रिकेट खेली। पिछले साल हमारे लिए इस टूर्नामेंट में टी नटराजन और वाशिंगटन सुंदर जैसे खिलाड़ी खेल रहे थे। लेकिन आज वह अंतरराष्ट्रीय टीम का हिस्सा हैं। उनको देखकर हमें यकीन है कि कुछ और खिलाड़ी भी जल्द ही भारतीय टीम का हिस्सा बनेंगे। पूरे सीजन में कई अच्छे प्रदर्शन हुए हैं। मैं जब भी खेलता हूं मेरे दिमाग में देश के लिए खेलना ही रहता है। मैं राज्य के क्रिकेट को और आगे ले जाना चाहता हूं।” दिनेश कार्तिक की 22 रन की पारी : लक्ष्य का पीछा करते हुए तमिलनाडु ने 26 रन पर अपना पहला विकेट गंवा दिया था। इसके बाद अपराजिता ने निशांत के साथ दूसरे विकेट के लिए 41 जोड़े। उसके बाद कप्तान दिनेश कार्तिक (22) के साथ तीसरे विकेट के लिए 34 और शाहरुख खान (18) के साथ चौथे विकेट के लिए अटूट 22 रन की साझेदारी कर टीम को चैंपियन बनाया। पूरी टीम ने मिलकर तमिलनाडु को दूसरा खिताब जिताया। विष्णु सोलंकी ने बड़ौदा को संभाला : बड़ौदा की टीम नौ विकेट पर 120 रन ही बना सकी। एक समय टीम ने मात्र 36 रन पर छह विकेट गंवा दिए थे। ऐसे में विष्णु सोलंकी (49) ने अतित सेठ के साथ सातवें विकेट के लिए 58 जोड़े। अतित सेठ ने 29 रन की पारी खेली। सेठ के आउट होने के बाद विष्णु सोलंकी ने भर्गव भट (12) के साथ आठवें विकेट के लिए 26 रन की साझेदारी कर स्कोर 120 तक पहुंचाया। सोलंकी ने 55 गेंद की अपनी पारी में एक चौका और दो छक्के मारे। इनके अलावा कप्तान केदार देवधर (16) की दोहरे अंक तक पहुंच पाए।
  • अपराजित ने एक विकेट भी चटकाया। आर साई किशोर ने रन तो कम खर्च किए लेकिन कोई विकेट नहीं ले पाए। उन्होंने चार ओवर में सिर्फ 11 रन दिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here